Tharki Padosi Uncle Ne Li Didi Ki Bajai | हिंदी सेक्स कहानियां

Tharki Padosi Ne Li Didi Ki Bajai - हिंदी सेक्स कहानि

Tharki Padosi Uncle Ne Li Didi Ki Bajai | हिंदी सेक्स कहानियां


हाय फ्रेंड्स। मेरा नाम ANKITA देसाई (उम्र २०) है। मैंने आपको इस कहानी के माध्यम से एक ऐसी रोमांचक घटना बताई है, जो कुछ दिनों पहले मेरी दीदी Monika के साथ घटित हुई थी।

इस घटना के बाद, मेरी Monika दीदी का अपने खूबसूरत होने का घमंड बिलकुल टूट गया था। अब उसके पैर आकाश में नहीं बल्कि जमीन पर आ गए हैं। यह कहानी कुछ इस तरह शुरू होती है-

Monika दीदी एक्ट्रेस बनने के सपने देखती रहती थी। वह महंगे मेकअप लगाकर और अच्छे कपड़े पहनकर डिस्को-टेक, क्लब में घुमा करती थी। मेरे माँ-पिताजी नौकरी करने में इतने व्यस्त थे, इसलिए उनको Monika दीदी के कारनामों के बारे में पता नहीं चलता था।

हिंदी सेक्स कहानियां *** हिंदी सेक्स कहानियाँ *** हिंदी सेक्स कहानी
hindi sex stories *** हिंदी में सेक्सी कहानियां *** सेक्स की कहानी हिंदी में
हिन्दी सेक्स कहानियां *** hindi sex stories *** "हिंदी सेक्सी कहानियाँ"

दीदी उन दोनों से पैसे माँगा करती थी, जो वह फोटो स्टूडियो में जाकर उड़ाती थी। कुछ महीने पहले, हमारे पास वाले मकान में एक Suraj अंकल रहने आए थे। वह पेशे से एक फ़ोटोग्राफर है, जो कैलेंडर मॉडल्स की तस्वीरें खींचते हैं।

जब मेरी दीदी को पता चला, तब वह ख़ुशी के मारे पागल हो गई थी। Suraj अंकल के साथ दीदी की जान-पहचान हो जाने बाद, वह उसकी पोट्रैट बनाने लगे। दीदी के ख़ूबसूरती की तारीफ़ करके, अंकल उसे बड़े-बड़े सपने दिखाने लगे थे।

दीदी दोपहर को Suraj अंकल के घर जाया करती थी। एक बार मैंने देखा कि Monika दीदी अपने अलमारी में एक बॉक्स छिपा रही थी। दीदी जब बाथरूम में गई, तब मैंने अलमारी में से बॉक्स खोलकर देखा था।

उसमें एक डिज़ाइनर ब्रा और पैंटी थी जो काफ़ी महंगी थी। उतनी महंगी ब्रा और पैंटी तो न मेरी माँ पहनती थी और न तो मेरी दीदी। दीदी के आने से पहले मैंने बॉक्स को उसकी जग़ह पर रख दिया था।

अगले दिन, दोपहर के वक़्त मेरी दीदी रोज़ की तरह Suraj अंकल के घर चली गई। उसके जाने के बाद, मैंने दीदी की अलमारी खोलकर उस बॉक्स को ढूँढ़ा। बॉक्स उस जग़ह पर नहीं था।

मुझे पता लगाना था कि उस दिन दीदी किस तरह की फ़ोटोग्राफ़ी करने के लिए Suraj अंकल के घर गई थी। दीदी के पास अंकल के घर की डुप्लीकेट चाबी थी। मैंने उसके बैग से चाबी निकाली और Suraj अंकल के घर की ओर चली गई।

चाबी लगाकर मैंने दरवाज़ा बिना कोई आवाज़ किए खोला और अंदर जाकर बंद कर दिया। दबे पाँव अंदर के कमरे की तरफ़ चलकर मैं झाँककर देखने लगी।

Monika दीदी ब्रा और पैंटी पहने अलग-अलग पोज़ में टेबल पर बैठे हुए अपने सौंदर्य का प्रदर्शन कर रही थी। Suraj अंकल उकसी तस्वीरें खींचते हुए उसे अगले पोज़ीशन के बारे में बता रहे थे।

कुछ देर बाद, अंकल अपना कैमरा रखकर Monika दीदी के पास जाकर खड़े हो गए। वह Monika दीदी के बदन को छूकर उसके पोज़ को ठीक कर रहे थे। Monika दीदी के चूचियों से लेकर उसकी चूतड़ तक, सब जग़ह अपना हाथ लगाकर वह दीदी को उत्तेजित करने लगे।

[Monika दीदी:] क्या से सब करना ज़रूरी है Suraj सर?

[Suraj अंकल:] ऑफ़ कोर्स बेबी, एक मॉडल को अपना बदन फोटोग्राफर को अर्पण कर देना चाहिए। तभी तो उसकी खूबसूरती फ़ोटो में उभरकर दिखेगी।

[Monika दीदी:] लेकिन मुझे डर लग रहा है सर…

[Suraj अंकल:] तुम बिलकुल डरो मत। बस मेरा साथ देते जाओ और मज़े करो। देखना मैं तुमको एक सुपर-मॉडल बनाऊँगा।

Suraj अंकल Monika दीदी की चूचियों पर हाथ घुमाकर उसे उकसाने लगे थे। दीदी ने अपने हाथों को चूत के हिस्से के पास ले जाकर उन्हें पैरों से दबाने लगी। तभी अंकल के शर्ट की जेब से कंडोम के २ पैकेट नीचे फ़र्श पर गिर गए।

दीदी उसे देखकर शर्मा गई थी। Suraj अंकल ने कंडोम के पैकेट को उठाकर बिस्तर के ऊपर फ़ेंक दिया। उन्होंने Monika दीदी के मोटे चूतड़ को पकड़कर उठाया और उसे बिस्तर पर लेटा दिया।

बिस्तर पर लेटाने के बाद, Monika दीदी की पैंटी के अंदर अपनी हथेली घुसाकर उसकी चूत को रगड़ने लगे। Monika दीदी अपने जाँघों से Suraj अंकल की हथेली दबाकर मज़े ले रही थी।

Suraj अंकल अपने कपड़े उतारकर Monika दीदी के ऊपर कूद पड़े। उसके गोल-मटोल लटकते हुए चूचियों को दबोचकर उन्हें दबाने लगे। Monika दीदी Suraj अंकल के होंठों को अपने मुँह में भरकर उनकी चुम्मियाँ ले रही थी।

Suraj अंकल ने Monika दीदी की ब्रा और पैंटी को उतार फेंका और उसे अपने ऊपर चढ़ा लिया। Monika दीदी की मोटी और गोरी गाँड़ की दरार में उँगलियाँ फ़साकर Suraj अंकल उसे फ़ैलाने लगे।

दीदी अपने हाथ को नीचे ले जाकर Suraj अंकल के मोटे लौड़े को हिलाने लगी। दोनों एक दूसरे के होंठों को चूस-चूसकर उसकी चुम्मियाँ ले रहे थे। Suraj अंकल ने अपनी बिच वाली उँगली Monika दीदी की गाँड़ की छेद में घुसा दी और उसे अंदर-बाहर करने लगे।

Monika दीदी सिसकियाँ लेते हुए Suraj अंकल की चुम्मियाँ लेने लगी थी। Suraj अंकल ने अपनी बिच वाली उँगली को Monika दीदी की गाँड़ की छेद से निकालकर अपने मुँह में भर दिया। उसके बाद उसी उँगली को Monika दीदी के मुँह में घुसा दिया।

Monika दीदी उठकर Suraj अंकल के चेहरे पर अपनी चौड़ी गाँड़ को रखकर बैठ गई। उसने पहले अपनी गाँड़ को Suraj अंकल के चेहरे पर रखकर आगे-पीछे करके घिसना शुरू। Suraj अंकल अपनी ज़ुबान बाहर निकालकर उसकी चूत की दरार और गाँड़ की छेद चाटने लगे।

Suraj अंकल ने उत्साहित होकर Monika दीदी के चूतड़ को पकड़ लिया और उन्हें फैलाकर अपनी ज़ुबान को उसकी गाँड़ की छेद के अंदर घुसाने लगे। Monika दीदी Suraj अंकल के मुँह पर अपनी गाँड़ को ऊपर-नीचे उछालने लगी थी।

Suraj अंकल ने अपनी उँगलियों से Monika दीदी की चूत की पँखुड़ियों को फ़ैलाना शुरू किया। Monika दीदी की चूत को खोलकर वह अपनी उँगली चूत पर रगड़ने लगे थे।

Monika दीदी Suraj अंकल का खड़ा हुआ मोटा लौड़ा देखकर आगे झुक गई। उनके लौड़े को पूरी तरह से तनकर खड़ा करने के बाद, Monika दीदी ने बिस्तर पर पड़े कंडोम के पैकेट को खोलकर कंडोम को अंकल के लौड़े पर चढ़ाया।

Monika दीदी अंकल के मोटे लौड़े को अपने मुँह में घुसाकर अच्छे से चूसने लगी। थोड़ी देर बाद, Monika दीदी Suraj अंकल के ऊपर चढ़कर बैठ गई।

Suraj अंकल ने एक कपड़ा अपने पेट पर रखा और दीदी की चूत में ज़ोर से धक्का मारकर अपना लौड़ा उसकी चूत में घुसा दिया। दीदी अंकल की जाँघों को दबाकर ज़ोर से चीख़ उठी।

जैसे ही अंकल ने अपना लौड़ा दीदी की चूत से निकाला, चूत से ख़ून निकलने लगा। दीदी ने कपड़े से अपनी चूत को साफ़ किया और लौड़े पर से कंडोम निकालकर फ़ेंक दिया।

दूसरे कंडोम को लौड़े पर चढ़ाकर दीदी ने Suraj अंकल के लौड़े को पकड़कर अपनी चूत की दरार पर घिसना शुरू किया और फिर अंदर घुसा दिया।

Suraj अंकल Monika दीदी की गाँड़ को पकड़कर उसे अपने मोटे लौड़े पर ऊपर- नीचे उछालने लगे। Monika दीदी ज़ोर से चिल्ला रही थी। वह पूरी तरह से मस्त और गरम हो चुकी थी।

उसकी गाँड़ की छेद भी खुल गई थी, जिसमें Suraj अंकल ने कुछ देर बाद अपनी उँगली घुसाकर अंदर-बाहर करने लगे। ज़ोर-ज़ोर से Suraj अंकल Monika दीदी को अपने मोटे लौड़े पर उछालने लगे जिससे Monika दीदी चिल्लाकर अपनी हवस को जताने लगी।

कुछ देर तक Suraj अंकल Monika दीदी की ज़ोर-ज़ोर से चुदाई करते रहे और फिर रुक गए। Suraj अंकल ने उठकर Monika दीदी को अपने गोद में बिठा लिया और उसकी गाँड़ को पकड़कर अपने मोटे लौड़े पर उछालना लगे।

Monika दीदी के मोटे चूचे Suraj अंकल की छाती से टकरा रहे थे।Suraj अंकल और Monika दीदी एक दूसरे की ज़ुबान बाहर निकालकर चाटने लगे। कुछ देर बाद, Suraj अंकल ने Monika दीदी को घोड़ी बनाकर बिस्तर पर लेटा दिया।

*** urdu sex story, sex story in urdu, urdu font sex story, sex story urdu, sex urdu story ***

Suraj अंकल ने Monika दीदी की हिलती हुई गाँड़ को देखकर उसके चूतड़ पर थप्पड़ मारकर उसके चीख़ें निकाल दिए। Suraj अंकल ने Monika दीदी की गाँड़ की छेद पर अपने मोटे लौड़े की नोक को रखा और धीरे से धक्का मारकर उसे अंदर घुसा दिया।

धीरे-धीरे धक्के मारते हुए Suraj अंकल Monika दीदी की गाँड़ को चोद रहे थे। Monika दीदी की ज़ोर-ज़ोर से गाँड़ चोदते वक़्त Suraj अंकल उसकी चूत को अपनी उँगलियों से रगड़ रहे थे।

गाँड़ के अंदर घुसते मोटे लौड़े ने Monika दीदी की हवस को इतना बढ़ा दिया था कि Monika दीदी की चूत से चिपचिपे पानी की धार Suraj अंकल की हथेली पर निकल गया।

"hindi sex stories,  हिंदी सेक्सी कहानियां, sex stories, हिंदी में सेक्सी कहानियाँ, sex khaani, हिंदी में सेक्स कहानियां, sex stories, हिंदी सेक्सी कहानिया"

कुछ देर बाद, Suraj अंकल Monika दीदी की कमर को पकड़कर धीरे से अपने मोटे लौड़े को उसकी गाँड़ के अंदर-बाहर कर रहे थे। कुछ देर बाद, Suraj अंकल अपने मोटे लौड़े को Monika दीदी की फैली हुई चूत के अंदर घुसाकर उसकी चुदाई करने लगे थे।

फिर आगे झुककर Monika दीदी के उछलते चूचियों को पकड़कर उन्हें दबाने लगे। Suraj अंकल ज़ोर-ज़ोर से Monika दीदी की चूत पर अपने मोटे लौड़े को पटक रहे थे। Monika दीदी चिल्लाकर Suraj अंकल को उकसाह रही थी।

कुछ समय और Monika दीदी की चुदाई करने के बाद Suraj अंकल ने अपना मोटा लौड़ा Monika दीदी की चूत से निकाल दिया। Monika दीदी के पैर काँपने रहे थे और तभी उसने पेशाब की तेज़ धार अपनी चूत से निकाल दी।

थोड़ी देर बाद, Monika दीदी मुड़कर Suraj अंकल के मोटे लौड़े को चूसने लगी थी। उसने लौड़े पर से कंडोम उतार दिया और ज़ोर-ज़ोर से Suraj अंकल का मोटा लौड़ा अपने मुँह के अंदर-बाहर करने लगी थी।

Suraj अंकल ने Monika दीदी का सर पकड़कर उसके मुँह के अंदर अपने लौड़े का माल निकाल दिया था। Monika दीदी मुस्कुराते हुए Suraj अंकल के लौड़े का माल पी गई। अंकल अपने कपड़े पहनने लगे और दीदी बाथरूम में चली गई।

*** urdu sex story, sex story in urdu, urdu font sex story, sex story urdu, sex urdu story ***

मैंने दुबारा दबे पाँव चलकर दरवाज़ा खोला और बाहर चली गई। कुछ दिनों बाद, Suraj अंकल ने दूसरी मॉडल को अपने स्टूडियो में लाना शुरू कर दिया था।

उस मॉडल को देखकर Monika दीदी को उसके साथ खेले गए खेल के बारे में एहसास हुआ। उस दिन Monika दीदी को अपनी असली औक़ात के बारे में पता चला।
LihatTutupKomentar