Padosi Aunty Ki Gulabi Vagina - Mastram Story

Padosi Aunty Ki Gulabi Vagina - Mastram Story



यह मेरी Real story है मेरे को लगता था ये सब झूठ है लेकिन जब मेरे साथ ऐसा हुआ तो लगा Real भी होता है मेरा नाम Alok है मैं महोबा से हू मैं अपनी story बता रहा हु कैसे मैं आपनी Bhabhi को चोदा… Hindi sex stories & Chudai

यह लगभग 3 साल पहले की बात है मैं एंटर की पढ़ाई कर रहा था बाहर रहकर एक बार छूटी के टाइम जब मैं घर गया तो देखा Bhabhi आई है घर पर मेरा कोई ख्याल नही था Bhabhi के बारे में ऐसा पर उस दिन ऐसा हुआ कि क्या बताये Bhabhi ने हाल चाल पूछा फिर सब ठीक चल रहा था पर कुछ देर बाद मेरी चाची आई वो और Bhabhi कुछ बात कर रहे थे चुदाई वीडियो के बारे के उनको लगा मैं समझ नही रहा हु चाची के फोन में वो वेदिओ था क्यों की कई बार मे वो वीडियो देख था जब मोबाइल चार्ज में लगी रहती तो मैं देखता था
फिर ये सब बात सुनकर मेरा लंड खड़ा हो गया मैं सोच कैसे भी कोई चूत मीले लेकिन किसकी?

फिर दीमक में आईडिया आया क्यों न Bhabhi को ही पटाया जाए क्योंकि हमें लगा रहा था कि Bhabhi पट जाएगी क्योंकि तीन मंथ पहले जब मैं घर पर आया था तब मैं पापा के पास खेत मे सो रहा था तब Bhabhi पानी देने आई थी 10 बजे तो उन सब को लगा होगा मैं सो रहा हु तो पापा Bhabhi से मजाक कर रहै थे कि अपना पानी पिला दो लेकर आने क्या जरूरत थी अब ये सुनकर लंड खड़ा हो गया लेकिन क्या करता फिर पापा Bhabhi 20 मिनट के लिए कही चले गए थे…

उस बीच मे मैं सो गया जब सुबह नींद खुली तो हमको लगा पापा Bhabhi को चोदे होंगे फिर हमें लगा Bhabhi तो पट जाएंगी ही फिर वो चली गई घर मे भी चला आया रूम पर ये थी पहले की बात फिर कांटीनीव फिर क्या ठंडी का महीना था रात को खाना खाने के बाद जब मैं सोने चला गया तब Bhabhi और छोटा भाई भी आये सोने के लिए..

Bhabhi बीच मे लेट गई सोने लगे रात में करीब एक बजे मेरा पैर टच हो गया कुछ फिलिंग आई फिर ऐसे ही सो गया..

सुबह उठे सब नॉर्मल था दूसरे दिन फिर जल्दी खाना खाकर सोने गया Bhabhi भी जल्दी आ गई सोने लगा फिर मैं 11 बजे ही जानबूझकर कर पैर टच किया कुछ नही बोली मौ जग रही थी फिर ऐसे चलना कभी उनको चिपक जाता ठंडी की वजह से लेकिन करीब 2 बजे मैं हिम्मत करके उनके धोती को ऊपर सरकाया पैर से घुटने तक..

फिर कुछ हिम्मत बढ़ी उनके चूत को टच किया वो कुछ नही बोली.

फिर मैं इनके पेट को सहलाया तो वो मेरा हाथ हटा दी मैं डर गया लेकिन कुछ नही बोली तो मैं फिर किया..

फिर वो हटा दी और धीमे से बोली पेट पर हाथ न रखो..

मैं समझ गया गरम हो गई है..

फिर क्या इस रात यही हुआ दूसरे दिन सोने गया तो भाई नही आया सोने वो पापा के पास सो गया फिर मैं और Bhabhi लेते थे रजाई ओढ़कर कुछ देर मैं जब टच किया तो और पेट पर हाथ रख पैर पर और चूत को टच किया तो Bhabhi कुछ नही बोली फिर मेरी हिम्मत बढ़ी मैं अपना लंड निकाला Bhabhi के हाथ मे रख दिया वो सहलाने लगी और कुछ देर बाद मैं अपना लंड उनके उपर से उनके चूत में डाल दिया बहुत आसानी से चला गया अंदर क्योंकि चूत गीली भी थी और उसकी चूत चूत नही भोसड़ा थी..

लेकिन फिर भी मजा आ रहा था क्योंकि मेरा पहला अनुभव था बहुत गर्म थी भोसड़ा उसका फिर मैं ऊपर नीचे करने लगा 8-10 बार मे ही झड़ गया उनकी चूत में ही उसके बगल आ कर लेट गया वो फिर भी गर्म थी तो मेरा लंड लेकर हिलाने लगी हमे लगा अभी वो संतुस्ट नही हुई है 10 मिनट बाद फिर खड़ा हुआ मैं अपना लंड एक बार मे झटके से डाल दिया वो आह आह आह आह की उसके बाद बहुत जोर से पकड़ ली हमको फिर मैं लगातार झटके मरते गया वो धीमे धीमे aah आह आह आह उह उह बोल रही थी 5 मिनट दोनो लोग झाड़ गए..


उसके बाद मैं सांति से लेट गया तो वो बोली इससे पहले कभी नही बोली इतना सब कुछ हो गया बोली क्या हुआ बहुत टेंशन में हो मैं बोला वीर्य चला गया कही आप प्रेग्नेंट न हो जाओ वो बोली तुम टेंशन न लो मैं ऑपरेशन करवाया है फिर मैं रिलैक्स हुआ सो गया 4 बजे फिर मेरी नींद खुली तो मेरा लंड खड़ा था तो मैं उनकी गाँड़ में डालने की कोशिस की उनकी गाँड़ बहुत टाइट थी वो मना कर दी बोली आज तक कभी करवाया नही फिर मैं बोला एक बार कोसिस करने दो जाएगा तभी कभी करूँगा फिर मैं थूक लगया बहुत लगया तेल लगाया लेकिन गया नही क्योंकि जबरजस्ती कर नही सकता था क्यूई की झटके से कर देता तो सब जान जाते फिर मैं ने बुर चोद ली सो गया..

फिर मैं चला आया रूम पर ये थी मेरी 1st चुदाई..

फिर एग्जाम समाप्त होने के बाद मैं घर पर कॉल किया तो पापा बोले सब ठीक है मैं बोलै मैसी भी आई है क्या तो बोले नही तो मैं पापा से वोला मैं जा रहा हु Bhabhi के घर पापा बोले जाओ Bhabhi भी बोल रही थी Alok को भेज दीजियेगा टहल जाए..

फिर मैं गया शायं को 6 बजे पहुचा Bhabhi मेरा वेट कर रही थी गए तो मौसा भी थे हाल चाल हुआ फिर Bhabhi पानी दी और जल्दी खाना बनाया चुदने जो थे..

फिर सब खाना खाया और सोने चले गये और आपको तो बताया ही नही मेरे मौसा को दो पत्नी है यानी दो Bhabhi मेरी 2nd Bhabhi के कोई बच्चे नही है तो 2nd Bhabhi छोटे बच्चे को लेकर मौसा के साथ एक कमरे में और दूसरे कमरे मे मैं Bhabhi और उनकी बड़ा बेटा लगभग 8 साल का होगा..



वहां पर एक ही बेड था Bhabhi बोली अपने बेटे से तुम हल्के को बक्से पर लेट जाओ तो वैसा ही किया उसके मैं Bhabhi एक साथ फिर पूरी रात में 4 बार चुदाई की लेकिन गाँड़ नही मरवाई..

उसके बाद दूसरे दिन Bhabhi की बड़ी बहन की बेटी आ गई वो मेरे को लाइन मारने लागि फिर रात में हम सब वैसे फिर सोने गए तो इस बार दो बेड रख दिये थे एक बेड पर Bhabhi और उनकी बहन की बेटी एक पर मैं और उनका बेटा…

फिर रात में मेेरे से बर्दास्त नही हुआ मैं गया Bhabhi की बेड पर तो गलती Bhabhi के साइड न जाकर लड़की के तरफ चला तो वो गरम थी बोली तुम हमको चोदने आये हो मैं बोला नही तेरी Bhabhi को बोली आज हमको चोदो प्लीज फिर मैं उसको चोदने लगा 2 बार चोदा Bhabhi सब महसूस कर रही थी लेकिन कुछ बोली नही नेक्स्ट डे मैं Bhabhi को दिन में मौका से चोद और चल5 गया घर…

फिर मैं ग्रेजुऐट की पढ़ाई करने बाहर चला आया आज तक अभी गाँड़ नही मेरी उसकी तब से लेकर अपनी 3 gf को चोदा गाँड़ भी मेरी ये सब बाद में बताऊंगा..

कभी जब भी Bhabhi से मुलाकात हुई गाँड़ जरूर मरूँगा सोच रहा हु आपकी बार जेली लेकर जाऊंगा
LihatTutupKomentar